बुधवार, नवम्बर 17, 2021

वित्त मंत्रालय की व्यय वित्त समिति ने नाग नदी पुनरुद्धार परियोजना को मंजूरी दी

नागपुर की पहचान नाग नदी को प्रदूषणमुक्त कराने के काम को अब गति मिल सकती है। वित्त मंत्रालय की व्य वित्त समिति (ईएफसी) ने बुधवार को नाग नदी के पुनरोद्धार परियोजना को मंजूरी दे दी है।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा परिकल्पित नाग नदी पुनरोद्धार परियोजना को व्यय वित्त समिति (ईएफसी) द्वारा अनुमोदित कर दिया गया है। नाग नदी पुनरोद्धार नागपुर के निवासियों के लिए एक महत्वाकांक्षी परियोजना है।

उन्होंने अपने ट्विटर संदेश में कहा कि कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद 2,117 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना का काम वास्तव में अब शुरू होगा।

गडकरी ने बताया कि इस कार्य को पूरा करने के लिए आठ वर्ष की अवधि निर्धारित की गई है। इस परियोजना के तहत 92 एमएलडी की क्षमता वाली तीन एसटीपी परियोजनाएं, 500 किलोमीटर सीवरेज नेटवर्क, पंपिंग स्टेशन और सामुदायिक शौचालय का निर्माण किया जाएगा।

गौरतलब है कि इस वर्ष के जनवरी महीने की 27 तारीख को दिल्ली में केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के निवासस्थान पर महाराष्ट्र की लंबित सिंचाई परियोजना को लेकर एक अहम बैठक बुलाई गई थी, जिसमें नागपुर की नाग नदी और पुणे की मुला-मुठा नदी के पुनरोद्धार पर चर्चा की गई थी।

उस दौरान गडकरी ने कहा कि 1700 करोड़ की लागत से नाग नदी की सफाई होगी और जपान की कंपनी जायका के साथ करार से संबंधित सभी प्रक्रिया पूरी हो गई है। संबंधित महापालिका आयुक्त को भी टेंडर के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट भेजने को कहा था।

Latest Articles

NewsExpress