शनिवार, नवम्बर 13, 2021

न्यूजीलैंड से भिड़ेगा अफगानिस्तान, सांसें थामकर देखेगा पूरा हिंदुस्तान

भारतीय टीम जब टी20 विश्व कप 2021 खेलने UAE पहुंची थी तो उन्हें इस बात का कोई अंदाजा भी नहीं रहा होगा कि उसकी किस्मत अफगानिस्तान पर निर्भर करेगी। सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए भारतीय टीम को अफगानिस्तान के मैच के नतीजे पर निर्भर होना पड़ेगा। न तो भारतीय टीम और न ही उसके फैंस ऐसा सोच रहे होंगे। लेकिन अब ऐसा हो चुका है। बीते रविवार जैसे ही न्यूजीलैंड ने भारत को हराया, तो कोहली ऐंड कंपनी की पूरी निगाहें अब राशिद खान ऐंड कंपनी पर टिकी हैं। अब अफगान स्पिनर्स आज न्यूजीलैंड के खिलाफ कैसा प्रदर्शन करेंगे इसी पर निर्भर करेगा कि टीम इंडिया का इस टी20 विश्व कप में सफर कैसा रहेगा।

अगर अफगानिस्तान न्यूजीलैंड को अबू धाबी में हरा देता है तो भारत जिसकी रनरेट अच्छी है को अपने आखिरी मैच में नामीबिया को हराना होगा। इसके बाद भारत अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड, दोनों टीमों को पीछे छोड़ इस ग्रुप में पाकिस्तान के साथ टी20 वर्ल्ड कप 2021 के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई हो जाएगी।

मगर अब उठता है बड़ा सवाल। आखिर अफगान स्पिनर्स का न्यूजीलैंड की टीम के खिलाफ चांस कितना है? न्यूजीलैंड की टीम अपने चार मैचों में से तीन मैच जीत चुकी है। मगर नामीबिया के खिलाफ खेले गए मैच में एक समय ऐसा भी आया था जब न्यूजीलैंड की टीम थोड़ा असहज और बिखरी हुई दिख रही थी। क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और अफगानिस्तान की टीम न्यूजीलैंड को हरा इस टूर्नामेंट में बड़ा उलटफेर कर सकती है।

अफगानिस्तान का फिरकी हमला
कीवी टीम के प्रदर्शन में कितनी भी निरंतरता हो लेकिन हमने देखा है क्वॉलिटी स्पिनर्स के सामने वे अकसर सहज नजर नहीं आते। केन विलियमसन के अलावा राशिद खान और मुजीब उर रहमान के अलावा बाकी बल्लेबाज राशिद खान और मुजीब उर रहमान की क्वॉलिटी स्पिन के सामने संघर्ष कर सकते हैं। मुजीब चोट के कारण अपने पिछले दो मैच नहीं खेल पाए थे। इसके अलावा मोहम्मद नबी भी हैं। इन तीनों को यूएई मे खेलने का अनुभव भी है और अच्छी तरह जानते हैं कि परिस्थितियों का इस्तेमाल कैसे करना है।

बोल्ट ऐंड कंपनी का कैसे करे सामना
अफगानिस्तान के स्पिनर्स का रिकॉर्ड पेपर पर बहुत अच्छे हैं लेकिन ट्रेंट बोल्ट की अगुआई वाला न्यूजीलैंड की घातक बोलिंग अटैक काफी बेहतर है। बोल्ट और साउदी नई गेंद से स्विंग करवाने में सक्षम हैं और इसका सामना करने में अफगान बल्लेबाज़ों को खासी परेशानी हो सकती है।

– टी20 विश्व कप में केन विलियमसन की जीत का प्रतिशत 77.77 है जो किसी भी कीवी कप्तान से बेहतर है। उन्होंने टी20 विश्व कप में 7 मैच जीते हैं।

– अफगानिस्तान की टीम ने 60.84 प्रतिशत रन बाउंड्रीज से बनाए हैं। यह इस विश्व कप में अभी तक सबसे ज्यादा है। अफगानिस्तान के बल्लेबाज़ों ने इस टूर्नामेंट में अब तक 54 चौके और 29 छक्के लगाए हैं।

– तेज़ गेंदबाज़ टिम साउदी का इस वर्ल्ड कप में इकॉनमी रेट 5.62 का है। यह किसी भी कीवी गेंदबाज का इस विश्व कप में बेस्ट प्रदर्शन है। साउदी ने 18 रन प्रति विकेट के औसत से अब तक 5 विकेट अपने नाम किया हैं।

टॉस कितना डालेगा असर
यह दिन का मैच है। तो ओस का असर देखने को नहीं मिलेगा। ओस शाम के मैचों में ज्यादा परेशान करती है। इसका मतलब यह है कि दोनों पारियों में स्पिनर्स मैच को रोमांचक बना सकते हैं। हालांकि यह एक दुधारी तलवार की तरह हो सकता है। न्यूजीलैंड के पास काफी संतुलित गेंदबाजी आक्रमण है। लेकिन राशिद खान ऐंड कंपनी को ओस न होने के कारण गीली होती गेंद का सामना नहीं करना पड़ेगा। यह देखना मज़ेदार होगा कि अगर न्यूजीलैंड टॉस जीतती हैं तो वह क्या करेगी क्योंकि क्वॉलिटी स्पिन के सामने रनों का पीछा करना बहुत मुश्किल हो सकता है।

Latest Articles

NewsExpress