गुरूवार, अक्टूबर 28, 2021

किसान आंदोलन के मद्देनजर भारत में अपने नागरिकों के लिए अमेरिका ने जारी किया सुरक्षा अलर्ट

किसान आंदोलन के मद्देनज़र अमेरिका ने बुधवार को भारत में रह रहे अपने नागरिकों के लिए चिंतित नजर आ रहा है। उसने नई दिल्ली में किसानों के विरोध के मद्देनजर भारत में अपने नागरिकों के लिए एक सुरक्षा अलर्ट जारी करते हुए अपनी सुरक्षा के लिए कदम उठाने के साथ-साथ प्रमुख क्षेत्रों, भीड़ और प्रदर्शनों से बचने की सलाह दी गई है। गौरतलब है कि किसान यूनियन ने संसद के मौजूदा मॉनसून सत्र शुरू होने के बाद मंगलवार को कहा था कि इस सत्र के दौरान वे लोग जंतर-मंतर पर एक ‘किसान संसद’ का आयोजन करेंगे और 22 जुलाई से 200 प्रदर्शनकारी प्रतिदिन सिंघू बॉर्डर से वहां पहुंचेंगे। बता दें कि कृषि के तीनों कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर कानून की गारंटी की मांग पर किसान संगठन अड़े हुए हैं।

दूतावास ने बुधवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘‘अमेरिकी दूतावास 21 और 22 जुलाई को किसानों द्वारा नई दिल्ली और उसके आसपास संभावित प्रदर्शनों की खबरों से अवगत है। पहले इस तरह के विरोध प्रदर्शनों में हिंसा हुई है।’’ इसमें कहा गया है कि अज्ञात संख्या में प्रदर्शनकारी, अधिक पुलिस बल, अतिरिक्त चौकियों को दिल्ली और उसके आसपास के सड़कों पर होने की संभावना है। इसी के मद्देनजर उन्हें संसद सहित महत्वपूर्ण क्षेत्रों, भीड़, प्रदर्शनों से बचने, अपनी व्यक्तिगत सुरक्षा योजनाओं की समीक्षा करने और कानून प्रवर्तन अधिकारियों के निर्देशों का पालन करने की सलाह दी।

किसान नेताओं ने कहा है कि किसान संसद का आयोजन 22 जुलाई से शुरू होकर मॉनसून सत्र समाप्त होने तक चलेगा और जंतर-मंतर 200 प्रदर्शनकारी हर दिन आएंगे। उल्लेखनीय है कि संसद का मानसून सत्र सोमवार को शुरू हुआ था और 13 अगस्त को संपन्न होगा।

गौरतलब है कि इससे पहले भी 26 जनवरी के दिन किसान संगठनों ने तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर ट्रैक्टर परेड निकाली थी,जो राजधानी की सड़कों पर अराजक हो गई थी। हजारों प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़कर पुलिस से भिड़ गए थे और लाल किले की प्राचीर पर एक धार्मिक ध्वज लहराया था।

Latest Articles

NewsExpress