शनिवार, अक्टूबर 23, 2021

असम: ओरंग नेशनल पार्क से राजीव गांधी का नाम हटाने पर भड़की कांग्रेस, सीएम हिमंत बिस्वा सरमा पर साधा निशाना

असम की बीजेपी सरकार ने ओरांग नेशनल पार्क से पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम हटा दिया है। अब राजीव गांधी राष्ट्रीय पार्क को ओरंग राष्ट्रीय उद्यान के नाम से जाना जाएगा। हिमंत बिस्वा सरकार ने यह फैसला टी ट्राइब्स कम्युनिटी की तरफ से उठाई गई मांग के 48 घंटे के अंदर लिया है। राजीव गांधी राष्ट्रीय पार्क का नाम बदलने के बाद से राजनीति तेज हो गई है।

कांग्रेस के क़ई नेताओं ने सीएम हिमंत बिस्वा सरमा पर निशाना साधा है। रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ANI न्यूज़ एजेंसी से कहा कि जो व्यक्ति असम का CM बना बैठा है, जो कहा करता था कि राजीव गांधी की वजह से राजनीति में हूं। उनका नाम मिटाकर क्या समझता है कि मिट जाएगा। पार्कों से शहीदों का नाम मिटाकर कुछ हासिल नहीं होने वाला।

तो वहीं कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार आएगी तो बीजेपी सरकार के इस फैसले को रद्द करके फिर से ओरंग राष्ट्रीय उद्यान का नाम बदलकर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा जाएगा।

हालांकि असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कहा है कि मैं साफ करना चाहता हूं। ओरंग राष्ट्रीय उद्यान का नाम नहीं बदला गया है। असम में किसी भी राष्ट्रीय उद्यान का नाम किसी व्यक्ति के नाम पर नहीं है। 2005 में, सरकार ने इस परंपरा को तोड़ा और पूर्व पीएम राजीव गांधी का नाम जोड़ दिया। स्थानीय भावनाओं का सम्मान करते हुए मूल नाम बहाल किया गया।

बता दें कि हाल ही में खेल रत्न पुरस्कार के नाम से भी राजीव गांधी का नाम हटाया गया है। राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदलकर ‘मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार’ कर दिया गया है।

Latest Articles

NewsExpress