मंगलवार, नवम्बर 16, 2021

कोरोना पर केंद्र का प्रहार: इटली से लौटते ही पीएम मोदी करेंगे समीक्षा बैठक, धीमी टीकाकरण वाले जिलों के जिलाधिकारियों से करेंगे बात

कोरोना महामारी से जंग जीतने के लिए देश में वैक्सीनेशन अभियान तेजी से चलाया जा रहा है। शनिवार शाम तक देश में 106 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। जिसके बाद देश ने तेजी से 100 करोड़ वैक्सीनेशन के आंकड़े को पार कर लिया। लेकिन अब केंद्र के सामने वैक्सीनेशन को लेकर एक नई समस्या सामने आ गई है। जिस रफ्तार से देश में वैक्सीन की पहली खुराक लगाई गई वैक्सीन की दूसरी खुराक में वह रफ्तार कहीं गायब सी हो गई। वैक्सीन की दूसरी खुराक में कई राज्यों की रफ्तार ढ़ीली पड़ गई है। जबकि कई लोग दूसरी डोज के लिए नहीं पहुंचे हैं। अब इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई राज्यों के जिलाधिकारियों से बात करने वाले हैं।

जी-20 शिखर सम्मेलन और सीओपी-26 में शामिल होने के लिए पांच दिवसीय दौरे पर विदेश गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत वापस लौटते ही कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को लेकर अहम बैठक करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि तीन नवंबर को प्रधानमंत्री मोदी उन जिलों के जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे, जिन जिलों में वैक्सीनेशन की रफ्तार बेहद सुस्त पड़ गई है। पीएम की समीक्षा बैठक के दौरान राज्यों के मुख्यमंत्री भी उपस्थित रहेंगे।

पीएमओ की ओर से जारी बयान में कहा गया कि पीएम की बैठक में उन जिलों का चुनाव किया गया है, जहां पर कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैक्सीनेशन की रफ्तार बेहद सुस्त है और जिले में 50 प्रतिशत से भी कम लोगों को सिर्फ पहली ही खुराक लग पाई है, वहीं दोनों खुराक का भी प्रतिशत कम है। ऐसे सभी जिलों के जिलाधिकारियों से पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत करेंगे।

पीएम की बैठक के लिए उन जिलों को चुना गया है, जहां वैक्सीनेशन की रफ्तार सुस्त है। पीएमओ ने बताया कि इसके तहत झारखंड, मणिपुर, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, मेघालय व अन्य राज्यों के 40 जिलों को चयनित किया गया है।

आपको बता दें कि हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने देशभर में वैक्सीनेशन को बढ़ावा देने के लिए सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की थी। इस बैठक का मुख्य कारण था कि नवंबर खत्म होने से पहले देश भर में वैक्सीनेशन की पहली डोज को 100 प्रतिशत तक पूरा कर लिया जाए। इसके लिए केंद्र सरकार अब 2 नवंबर से घर घर वैक्सीनेशन अभियान भी शुरू करने जा रही है। पीएम मोदी इस अभियान को आधिकारिक रूप से हरी झण्डी दिखाएंगे।

Latest Articles

NewsExpress