बुधवार, नवम्बर 17, 2021

रक्षा मंत्रालय ने सिमुलेटर्स के उपयोग को बढ़ाने के लिए किया फ्रेमवर्क तैयार

रक्षा मंत्रालय ने तीनों सेवाओं और भारतीय तटरक्षक द्वारा सिमुलेटर के उपयोग के लिए फ्रेमवर्क तैयार किया है। तैयार ढांचा स्वदेशी डिजाइन और विकास के साथ-साथ भारतीय कंपनियों को सिमुलेटर के संचालन और रखरखाव की आउटसोर्सिंग में मदद करेगा।

नई नीति सशस्त्र बलों द्वारा भविष्य में उपयोग किए जाने वाले/भविष्य में खरीदे जाने वाले सभी प्रकार के सिमुलेटरों पर लागू होगी।

प्रशिक्षण पर खर्च को कम करते हुए और उपकरणों के जीवन को संरक्षित करते हुए सिमुलेशन तकनीक के अनुप्रयोग के रास्ते लगातार तलाशे जाएंगे।

इससे होगा स्वदेशीकरण

तीनों सेवाओं और आईसीजी द्वारा सिमुलेटरों के एक्सप्लाइटेशन को पुनर्जीवित करने के लिए रक्षा मंत्रालय और औद्योगिक संघ के सभी घटकों को सौंपी गई जिम्मेदारी के साथ एक विस्तृत कार्य योजना का पालन किया जाएगा।

विकास, उत्पादन और रखरखाव में शामिल भारतीय एजेंसियों को सैन्य सिमुलेटरों के उत्पादन, तैनाती और रखरखाव के लिए उच्चतम स्तर का स्वदेशीकरण सुनिश्चित करने के लिए सेवाओं द्वारा लगाया जाएगा।

Latest Articles

NewsExpress