मंगलवार, अक्टूबर 26, 2021

उत्तराखंड में आफत की बारिश: बदरीनाथ हाईवे पर पहाड़ी से पत्थर गिरने का सिलसिला जारी, सोमेश्वर में मकान ध्वस्त

उत्तराखंड में मानसून की बारिश आफत बनकर बरस रही है। पहाड़ों में लगातार चट्टान खिसकने के कारण मार्ग पर बार-बार दिक्कते हो रही हैं। भारी बारिश के कारण सोमेश्वर में मकान की छत गिरने से एक महिला की मौत हो गई। जबकि पांच गंभीर घायल हो गए। बदरीनाथ हाईवे और मलारी मार्ग में भूस्खलन और पहाड़ी से पत्थर गिरने का सिलसिला जारी है। अब घंटों बाद मार्ग खुल गए है। चमोली जिले के थांग गांव को जोड़ने वाले जोशीमठ-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग के पास मोटर मार्ग पर बीते रोज भी भूस्खलन हुआ। वहीं, गौरीकुंड हाईवे, बांसवाड़ा के पास बंद पड़ा है। दून-दिल्ली हाईवे भी मोहंड के पास चट्टान खिसकने से करीब सवा घंटे मार्ग व्यस्त रहा।

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, अगले कुछ दिन प्रदेश में दून समेत विभिन्न इलाकों में भारी बारिश होने की आशंका जताई जा रही है। अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर में, जिला मुख्यालय से 45 किमी दूर सुतोली गांव में, तड़के बड़ा हादसा हो गया। एक मकान की छत गिरने से छह लोग मलबे में दब गए। जिनमें से एक महिला की गंभीर चोट लगने से मौत हो गई। जबकि उसके पति समेत पांच घायल बेस चिकित्सालय लाए गए हैं। वहीं, बागेश्वर जिले में बारिश से दो मकानो को भारी नुक्सान हुआ हैं।

तीन दिन बाद सीमा सड़क संगठन ने तमक में बंद पड़े मलारी, नीती हाईवे को खोल दिया है। हाईवे खुलने के बाद तीन दिनों से फंसे सेना, आइटीबीपी के अलावा स्थानीय वाहनों को निकलने की अनुमति दी गई। जबकि, यहां पर पहाड़ी से बार-बार पत्थर गिरने के कारण हाईवे बंद हो रहा है।

बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग तोताघाटी के पास का मार्ग करीब तीन दिन बाद खोल दिया गया है।

Latest Articles

NewsExpress