शनिवार, अक्टूबर 23, 2021

फिलिपीन्स में सैन्य बलों को ले जा रहा अमेरिका से दान में मिला C-130 विमान क्रैश, 45 जवानों की गई जान

फिलीपींस के एक दक्षिणी प्रांत में कल एक दर्दनाक विमान हादसा हुआ था जिसमें अब तक 45 लोगों की मरने की खबर है। सैन्य बलों को ले जा रहे वायुसेना के एक सी-130 विमान उतरते समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया। न्यूज एजेंसी एएफपी ने सेना के हवाले से इस बात की जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि सुलु प्रांत के जोलो हवाई अड्डे पर दोपहर के वक्त विमान के दुर्घटनाग्रस्त हुआ लेकिन इस घटना से पहले कुछ सैनिकों को विमान से कूदते देखा गया। जमीन पर छह लोग विमान की चपेट में आए थे जिनमें से दो की मौत हो गई।

वहीं फिलीपींस के रक्षा मंत्री डेल्फिन लोरेंजाना ने बताया कि बचाव कार्य जारी है। सेना ने बताया कि विमान में कुल 96 लोग सवार थे जिसमें तीन चालकों और चालक दल के पांच सदस्य शामिल थे। हादसे का शिकार हुआ लॉकहीड सी-130 हरक्यूलिस फिलीपींस को सैन्य सहायता के रूप में इस साल सौंपे गए अमेरिकी वायु सेना के दो विमानों में से एक था।

चीफ ऑफ स्टाफ जनरल सिरिलिटो सोबेजाना ने बताया कि यह विमान हादसा रविवार को दोपहर 12 बजे से ठीक पहले उतरते समय सुलु प्रांत में पर्वतीय कस्बे पाटीकुल के बांगकल गांव में हुआ।

सैन्य अधिकारियों ने बताया कि विमान में सवार कम से कम 50 लोगों जीवित निकाला गया और उन्हें सुलु या नज़दीकी जोमबोआंगा शहर के अस्पतालों में ले जाया गया और सैन्य बल शेष लोगों को खोजने का प्रयास कर रहे हैं। सेना ने एक बयान में कहा, ‘‘प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कई जवानों को विमान के जमीन पर पहुंचने से पहले उससे बाहर कूदते देखा गया, जिसके कारण वे दुर्घटना के बाद विस्फोट की चपेट में आने से बच गए।’’

विमान सैन्य बलों को दक्षिणी कागायन डी ओरो शहर से तैनाती के लिए सुलु ले जा रहा था। बता दें कि सरकारी बल सुलु के मुस्लिम बहुल प्रांत में अबु सैय्याफ आतंकवादियों के खिलाफ दशकों से लड़ रहे हैं। विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने का वजह क्या है इसका कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है।

सोबेजाना ने कहा, ‘‘यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. विमान रनवे पर नहीं उतर पाया. विमान चालक ने उसे फिर से नियंत्रित करने की कोशिश की, लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाया और विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया।’’

वायु सेना के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर ‘द एसोसिएटेड प्रेस’ को बताया कि जोलो रनवे देश के अन्य रनवे की तुलना में छोटा होने की वजह से वहां उतरने के लिए एक निश्चित स्थान पर विमान नहीं उतर पाता है तो विमान चालक के लिए उसे नियंत्रित करना कठिन हो जाता है। मैंने ऊजोलो से और जोलो तक कई बार सैन्य विमान उड़ा चुके हैं।

Latest Articles

NewsExpress