मंगलवार, अगस्त 31, 2021

कोलकाता रवानगी से पहले विपक्षी एकता पर जोर देते हुए ममता बनर्जी की बड़ी बात, कही ‘मोदी बनाम संयुक्त विपक्ष’ होगा 2024 लोकसभा चुनाव

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पांच दिवसीय दिल्ली दौरा आज खत्म हो गया। मुख्यमंत्री वापस कोलकाता लौट गई। अपने इस दौरे पर उन्होंने कई नेताओं से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि उनका दौरा सफल रहा है। ममता बनर्जी ने विपक्षी एकता पर जोड़ देते हुए कहा कि हमारा नारा है, “लोकतंत्र बचाओ, देश बचाओ।”

ममता ने कहा कि मेरी एनसीपी प्रमुख शरद पवार से इस बार मुलाकात नहीं हो पाई, लेकिन बात हुई। उन्होंने आगे कहा कि अगली दिल्ली आऊंगी तब शरद पवार से भेंट करुंगी। कोरोना की वजह से कई नेताओं से मुलाकात नहीं हो पाई। उन्होंने हर दो महीने पर दिल्ली आने की बात कही।

टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने कृषि कानूनों और पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों मुद्दे पर के मोदी सरकार आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि हमारा किसानों को पूर्ण समर्थन है।

तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली मर्तबा ममता बनर्जी 26 जुलाई को दिल्ली पहुंची थीं। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर राज्य में कोरोना वैक्सीन की कमी और बंगाल का नाम बदलने को लेकर चर्चा की।

इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कमलनाथ, आनंद शर्मा, अभिषेक मनु सिंघवी, और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई अन्य नेताओं से भी मुलाकात की।

ममता बनर्जी 2024 में विपक्षी एकता पर जोड़ देते हुए पिछले दिनों सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद कहा था कि “यह (विपक्षी एकता) सतत प्रक्रिया है.. जब मोदी अगला चुनाव लड़ेंगे तो यह देश के साथ होगा।” मुख्यमंत्री ने कहा कि “अगला लोकसभा चुनाव मोदी बनाम संयुक्त विपक्ष होगा।”

जब ममता बनर्जी से पूछा कि क्या वह विपक्ष का चेहरा बनना चाहती हैं? जिसके जवाब में उन्होंने कहा, “मैं कोई राजनीतिक भविष्यवक्ता नहीं हूं। यह परिस्थिति पर निर्भर करता है। अगर कोई और नेतृत्व करता है तो मुझे कोई समस्या नहीं। जब इस मुद्दे पर चर्चा होगी तब हम निर्णय ले सकते हैं. मैं अपना निर्णय किसी पर थोप नहीं सकती।”

Latest Articles

NewsExpress