शनिवार, अक्टूबर 2, 2021

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के ‘अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम में लिया भाग

भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल यानी 15 अगस्त को अमृत महोत्सव मनाए जाना की योजना पूरे देश में अनेक-अनेक कार्यक्रमों के रूप में शुरू हो गई है। वहीं, शुक्रवार को भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद द्वारा ‘अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भाग लिया।

इस दौरान जयशंकर ने कहा कि यह उत्सव का क्षण है। वे बोले, ‘हम एक ऐतिहासिक क्षण (इस अगस्त 15 को) चिह्नित करेंगे। यह निश्चित रूप से उत्सव का क्षण है, वहीं, आत्मनिरीक्षण और नए संकल्प के लिए रूप में भी जरूरी।’

इससे पहले भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने ‘स्वतंत्रता’ और ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ के 75 वें वर्ष पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मनाया था। उन्होंने सिक्किम के नाथू ला से सिलीगुड़ी तक 225 किलोमीटर की दूरी तक 7 दिवसीय साइकिल अभियान का आयोजन किया था। जिसके दौरान टीम के सदस्यों ने, अन्य जागरूकता अभियानों के अलावा, चिकित्सा शिविर, दवाएं वितरित करना, पौधे लगाना और युवाओं के लिए करियर परामर्श देना,आदि में भाग लिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर मनाया जाने वाला अमृत महोत्सव केवल एक सरकारी कार्यक्रम बनकर नहीं रहना चाहिए बल्कि इसे जन आंदोलन के रूप में आगे बढ़ाना चाहिए। हर विधानसभा क्षेत्र में जाएं और 75 गांवों का दौरा करे और वहां 75 दिन बिताए तथा जनता के बीच डिजिटल साक्षरता को लेकर जागरूकता अभियान चलाए। जिससे जनता को पता चलेगा कि सरकार सभी मुद्दों पर बहस के लिए तैयार है।

शनिवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द 75 वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित करेंगे। हिंदी और अंग्रेजी संस्करण में शाम 7 बजे से संबोधन शुरू होगा।

Latest Articles

NewsExpress