शुक्रवार, जनवरी 28, 2022

दिल्ली के बॉर्डर से आज किसान लौटेंगे वापस अपने घर, आंदोलन खत्म होने का किया ऐलान

केंद्र सरकार की ओर से कृषि कानूनों को वापस लेने के बाद अब किसानों का आंदोलन खत्म हो गया है। इस आंदोलन को एक साल से भी ज़्यादा का समय बीत चुका है। जो कि आज पूरी तरह से खत्म हो रहा है। वहीं दिल्ली के सभी बॉर्डर्स से किसानों की आज पूरी तरह से घर वापसी हो रही है।

बात करें गाजीपुर बार्डर, टीकरी बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर की तो आज से एक बार फिर यह आम लोगों के लिए खुल जाएंगे। हरियाणा के टोलों से भी किसानों का धरना प्रदर्शन खत्म हो जाएगा। किसान नेता राकेश टिकैत भी आज हवन कर के समर्थकों के साथ घर लौटे जाएंगे।

गौरतलब है कि बीते मंगलवार को पुलिस ने सिंघु बॉर्डर पर सभी अवरोधकों को हटा दिया है, जो प्रदर्शनकारी किसानों को राष्ट्रीय राजधानी की ओर जाने से रोकने के लिए लगाए गए थे। तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने और अन्य मांगों को मान लेने के केंद्र के फैसले के बाद शनिवार को किसानों ने दिल्ली-हरियाणा सीमा पर विरोध स्थल छोड़ना शुरू कर दिया था।

इस सब को लेकर पुलिस अधिकारी ने कहा कि सिंघु बॉर्डर से ठोस अवरोधकों और अन्य अवरोधकों को हटा दिया गया है। हालांकि अभी तक सड़क को यातायात के लिए नहीं खोला गया है। सिंघु बॉर्डर के अलावा, मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसानों ने पिछले साल 26 नवंबर को दिल्ली के टीकरी और गाजीपुर सीमाओं की घेराबंदी की थी।

साथ ही पुलिस अधिकारी ने कहा कि आज सभी पंजाब-हरियाणा सब जगह टोल, मॉल और पेट्रोल पंप पर चल रहा प्रदर्शन खत्म हो जाएगा। किसानों की टोली पंजाब-हरियाणा समेत दिल्ली की सड़कों को पूरी तरह खाली कर देगी। दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर से बैरिकेडिंग भी हट जाएगी और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर गाड़ियां फिर दौड़ने लगेगी।

Latest Articles

NewsExpress