शुक्रवार, जनवरी 28, 2022

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के इंग्लैंड से भारत प्रत्यर्पण पर आज होगी सुनवाई

मंगलवार को इंग्लैंड उच्च न्यायालय द्वारा भारत के भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण संबंधी अपील पर सुनवाई करेगा। नीरव मोदी ने मानवाधिकार और मानसिक स्वास्थ्य के आधारों पर राहत के लिए अपील कर रखी है।

इसी वर्ष अगस्त की शुरुआत में नीरव मोदी को इस आधार पर इंग्लैंड से भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति दी गई थी कि यदि वह भारत लौटता है और उसका मानसिक स्वास्थ्य खराब हो सकता है और वह आत्महत्या कर सकता है।

नीरव मोदी के वकील लंबे वक्त से तर्क दे रहे हैं कि उनके मुवक्किल गंभीर अवसाद से पीड़ित हैं और अगर उनको मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद किया जाता है तो उन्हें पर्याप्त मेडिकल ट्रीटमेंट नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि मार्च 2019 में कोविड -19 महामारी और लंदन में उनकी गिरफ्तारी के दौरान जेलों पर लगाए गए सख्त प्रतिबंधों की वजह से दक्षिण लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में उनकी मानसिक स्थिति और ख़राब हो गई थी।

उन्होंने कोर्ट में कई चिकित्सा विशेषज्ञों को भी इस बात का सबूत देने के लिए पेश किया था कि उनके मुवक्किल नीरव मोदी को आत्महत्या करने का भारी खतरा है और वो खुद की जान ले सकते है।

Latest Articles

NewsExpress