शनिवार, नवम्बर 13, 2021

Health Tips : बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए इस तरह करें तुलसी के पत्ते का सेवन, होंगे कई फायदे

शरीर में प्यूरीन के ब्रेकडाउन से यूरिक एसिड बनता है। आमतौर पर ये यूरिन के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है। लेकिन जब शरीर में इसका लेवल बढ़ जाता है तो ये किडनी की काम करने की क्षमता को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है। ऐसे में ये शरीर के लिए खतरनाक होता है। अगर समय रहते ही इसका इलाज नहीं किया गया तो इसकी चपेट में आने से शरीर के कई हिस्सों को प्रभावित करने लगता है। जैसे कि जोड़ों में दर्द, घुटनों में सूजन आदि होना। ऐसे में आप डॉक्टर से सलाह के अलावा कुछ घरेलू उपायों को भी अपनाकर इस समस्या को कंट्रोल में कर सकते हैं।

बढ़े यूरिक एसिड के लिए फायदेमंद है तुलसी का पत्ता

ये तो सभी जानते होंगे की तुलसी कई औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसमें विटामिन ए, डी, आयरन, फाइबर, अल्सोलिक, यूजेनॉल और एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं। अगर कोई इंसान बढ़े हुए यूरिक एसिड से परेशान है तो वो तुलसी के पत्ते का सेवन करें। इससे उसे जल्द ही आराम मिल जाएगा और यूरिक एसिड कंट्रोल में रहेगा।

इस तरह करें तुलसी के पत्ते का सेवन

1. सबसे पहले आप तुलसी के 5 से 6 पत्तों को पानी में अच्छे से धो लें।

2. उसके बाद तुलसी के पत्तों को काली मिर्च और देसी घी के साथ मिलाकर रोजाना सेवन करें।

3. अगर आप इसे रोजाना ऐसे ही खाली पेट इसका सेवन करेंगे तो ये आपके सेहत के लिए बेहद फायेदमंद होगा।

तुलसी के पत्ते का सेवन करने से होंगे कई फायदे

1. तुलसी की पत्तियों का सेवन सर्दी-खांसी में काढ़ा बनाने में किया जाता है। इससे बहुत राहत मिलता है।

2 अगर कहीं पर भी चोट लग गई हो तो आप तुलसी के पत्तों को पीसकर फिटकरी मिला लें उसके बाद इसे घाव पर लगाए। इससे घाव जल्दी भर जाते हैं। इसमें एंटी बैक्टीरियल तत्व होते हैं जो घाव को पकने नहीं देता और जल्दी ठीक कर देता है।

3. अगर महिलाओं में अनियमित पीरियड की समस्या हैं तो आप तुलसी के पत्ते का सेवन कर सकते हैं। ये अनियमित पीरियड को दूर करने में सहायक होते हैं।

Latest Articles

NewsExpress