शनिवार, अक्टूबर 23, 2021

अफगानिस्‍तान में रह गए हैं अब कितने अमेरिकी नागरिक? — बाइडन का इनके लिए क्‍या है संदेश

अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना के पूरी तरह से वापसी के बाद भी अभी कुछ अमेरिकी अफगानिस्तान में रह गए हैं। व्हाइट हाउस की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि लगभग 98 प्रतिशत अमेरिकियों को सुरक्षित निकाल लिया गया है।बाकी 1oo से 200 लोग ही बचे है, उन्हें भी निकलने का लिए हम प्रतिबद्ध है।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने दैनिक जागरण के पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि अफगानिस्तान में जो अमेरिकी रह गए हैं ,उनको दोहरी नागरिकता हासिल है। इनमें से अधिकतर के परिवार वहीं पर हैं। इसलिए ही वो वापस नहीं आ सके हैं। उन्होंने ये भी बताया कि अफगानिस्तान से बाहर निकलने की समय सीमा केवल यूएस फोर्स के लिए ही थी। ये समय सीमा अमेरिकी नागरिकों पर लागू नहीं होती है। इसलिए वो आगे भी वापस आ सकते हैं। ऐसे नागरिकों की अमेरिका पूरी मदद करेगा।

बाइडन ने आगे कहा है कि विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन लगातार कूटनीतिक प्रयास जारी रखे हुए हैं, जिससे वहां मौजूद अमेरिकियों को सुरक्षित बाहर निकाला जा सके। इनमें वो अफगानी भी शामिल हैं ,जिन्होंने बीते दो दशकों में अमेरिका की किसी न किसी तरह की मदद की है। इसके अलावा इसमें अमेरिकी नागरिक भी शामिल हैं।

बता दें कि 15 अगस्त को तालिबान ने काबुल पर कब्जा किया था। इसके बाद से अमेरिका ने वहां से करीब सवा लाख लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला है। फिलहाल अफगानिस्तान में एक भी अमेरिकी सैनिक नहीं है। अमेरिका के काबुल से निकलने के बाद काबुल एयरपोर्ट पर तालिबान का कब्जा हो गया है। अमेरिका वायु सेना के आखिरी विमान ने सोमवार की देर रात उड़ान भरी थी।

अमेरिका ने काबुल से अपने लोगों को निकालने की शुरुआत करीब 17 दिन पहले की थी। इसमें पहले वहां से 5500 लोगों को निकाला गया था। इनमें दूसरे देशों के डिप्लोमेट, दूतावास में काम करने वाले अमेरिकी और उनके परिजन, वहां काम करने वाले अफगानी और उनके परिजन भी शामिल थे।

तालिबान ने रेडियो टीवी के माध्यम से ऐसे लोगों को सुरक्षित रास्ता देने की बात कही है जो देश छोड़कर जाना चाहते हैं।
बाइडन ने कहा है कि हम उन्हें अकेला नहीं छोड़ सकते हैं और अंतरराष्ट्रीय जगत से अपील की है कि वो तालिबान पर अपनी बातों पर खरा उतरने के लिए दबाव बनाकर रखे। इसमें लोगों की स्वतंत्र आवाजाही भी शामिल हो।

Latest Articles

NewsExpress