सोमवार, अक्टूबर 25, 2021

मुंबई में लोगों ने आवारा पशुओं को बांधी राखी और लिया हर सीजन में देखरेख का संकल्प

मुंबई के एनिमल ग्रुप से जुड़े लोगों ने रक्षा बंधन के मौके पर आवारा पशुओं को राखी बांधी और उनकी देखरेख का संकल्प भी लिया। एनिमल ग्रुप का गठन, एंटी करप्शन ब्यूरो के असिस्टेंट कमिश्नर सुधीर कुदालकर ने किया था। इस समूह का काम सड़कों पर घूम रहे पशुओं की देखरेख करना है। 7 साल के बच्चों से लेकर 50 साल तक की आयु के लोगों ने पशुओं की रक्षा का संकल्प लिया है। यह समूह लोगों को भी पशुओं के साथ क्रूरता न करने के लिए जागरूक कर रहा है।

एसीपी कुदालकर ने सितंबर 2020 में इस ग्रुप की शुरुआत की थी। उन्होंने कोरोना काल में पशुओं की देखभाल के मकसद से इसकी शुरुआत की थी। रक्षाबंधन के मौके पर ग्रुप से जुड़े लोगों ने पशुओं से क्रूरता के खिलाफ संदेश वाले वीडियो भी बनाए और सोशल मीडिया पर जारी किए। कुदालकर ने हिंदुस्तान समाचार को कहा, ‘रक्षाबंधन का अर्थ संरक्षण के भाव से है। हमारे मूक जानवर हमारे सबसे अच्छे साथी हैं। हम उनके संरक्षक हैं और उनसे प्यारा रिश्ता रखते हैं। इस बार हमने आवारा पशुओं से पवित्र रिश्ते का जश्न मनाया है।’

इसके अलावा ग्रुप के करीब 70 लोगों ने पशुओं को राखी बांधी और उनकी रक्षा करने का संकल्प लिया ।

6 साल की बच्ची दीया वाडकर ने भी पशुओं को राखी बांधी। दीया वाडकरन ने कहा, ‘इस रक्षाबंधन के मौके पर मैं आवारा पशुओं की रक्षा करने और उन्हें प्यार और सम्मान से रखने का संकल्प लेती हूं। मैंने देखा है कि कई बार हमारे बुजुर्ग भी सोसायटी के वॉचमैन से कहते हैं कि वे जानवरों को पीटें और सोसायटी से हटाएं। ऐसा नहीं करना चाहिए। इसकी बजाय हमें उनकी देखभाल करनी चाहिए क्योंकि वे भी हमारे बीच में हैं और समाज का हिस्सा हैं। कोरोना काल सिर्फ इंसानों के लिए ही नहीं बल्कि पशुओं के लिए भी मुसीबतें लेकर आया। मैं बिल्ली और अपने इलाके के अन्य जानवरों का ख्याल रखूंगी और उन्हें कभी नुकसान नहीं पहुंचाऊंगी।’

Latest Articles

NewsExpress