मंगलवार, अक्टूबर 26, 2021

आयकर विभाग ने दिल्ली, गुजरात और दादरा में छापेमारी की

आयकर विभाग ने सिंथेटिक यार्न (धागे) और पॉलिएस्टर चिप्स के एक निर्माता एवंवितरक के खिलाफ सितंबर 1, को एक तलाशीतथाजब्ती अभियान चलाया।कंपनी का दिल्ली मेंकॉर्पोरेट कार्यालय है जबकिदादराऔर नगर हवेली एवंदाहेज में कारखाने हैं।

तलाशी के दौरान,अपराध सिद्ध करने वाले कईदस्तावेज, अनियमित बहीखाता, डिजिटल साक्ष्य आदि मिले हैंजिनसे समूह कीबेहिसाब लेनदेन में संलिप्तता का पता चलता है। नियमित खातों के बाहर लेनदेन, नकद खरीद, बिक्री को छिपानेऔर फर्जी पक्षोंको बिक्री की बुकिंग के पर्याप्त सबूत भी मिले हैं।

समूह ने पिछले कुछ वर्षों में श्रबहीखाते में 380 करोड़ रुपये के अपने बेहिसाबी धन को फर्जी इकाइयों के माध्यम से असुरक्षित ऋण के रूप में दर्शाया। इसके अलावा, उसके बहीखाते में शेयर प्रीमियम के रूप में शेल इकाइयों के माध्यम से 40 करोड़ रुपये की राशि भी दिखायी गयी।शेल इकाइयोंके निदेशकों और लेखा परीक्षकों ने अपने बयान में स्वीकार किया है कि उन इकाइयों काइस्तेमाल मूल रूप से आवास संबंधी प्रवृष्टियां प्रदान करने के लिए किया गया था।

“अंगाड़िया”के माध्यम से नकद खरीद के पर्याप्त सबूत और नकदी के लेनदेन का खुलासा करने वाले दस्तावेज बरामद किए गए हैं। 154 करोड़ रुपये की फर्जी खरीद की बुकिंग के साक्ष्य का भी पता चला है। तलाशी के दौरान बेहिसाबीआभूषणमिले हैं और 11 लॉकरपर रोक लगा दी गयी है।

तलाशी अभियान अब भी जारी है और जांच का काम चल रहा है।

Latest Articles

NewsExpress