शुक्रवार, जनवरी 28, 2022

आयकर विभाग का तमिलनाडु में तलाशी अभियान

आयकर विभाग ने चिट फंड, वित्त और रियल एस्‍टेट के कारोबार में लगे नेवेली स्थित एक समूह पर दिसंबर 16 को तलाशी और जब्ती अभियान चलाया। यह समूह अपने ट्रस्टों के माध्यम से शैक्षणिक संस्थान भी चलाता है। यह तलाशी अभियान इस समूह के नेवेली, चेन्नई, कोयंबटूर, नीलगिरी जैसे विभिन्न स्थानों पर स्थित लगभग 30 परिसरों पर भी चलाया गया।

तलाशी अभियान के दौरान, समूह के प्रमुख व्यक्तियों द्वारा गुप्त रूप से बनाए गए खाता बही के समानांतर सेट वाले एक दूरस्थ रूप से स्थित क्लाउड सर्वर का पता चला है। विभिन्न दस्तावेजी और डिजिटल साक्ष्य भी जब्त किए गए हैं। इन डिजिटल साक्ष्यों और अन्य संबंधित सबूतों से स्‍पष्‍ट रूप से चिटफंड व्यवसाय से आय की कम रिपोर्टिंग करने और विभिन्न पक्षों से नकद रूप से प्राप्‍त जमा राशियों के माध्‍यम से बेहिसाब धन का सृजन करने का पता चला है।

जब्त किए गए सबूतों से यह भी संकेत मिलता है कि इस तरह से जुटाए गए बेहिसाब धन का उपयोग रियल एस्टेट कारोबार में निवेश के लिए ‘ऑन-मनी’ भुगतान करने में किया गया है। प्रथम दृष्टया विश्लेषण से पता चलता है कि अचल संपत्तियों में बेहिसाब नकद लेन-देन वाले धन की राशि 250 करोड़ रुपये से अधिक है।

तलाशी अभियान में 12 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाबी नकदी भी बरामद हुई है। आगे की जांच जारी है।

Latest Articles

NewsExpress