बुधवार, नवम्बर 24, 2021

क्रूड भंडार से 50 लाख बैरल जारी करेगा भारत; घट सकते हैं तेल के दाम

केंद्र सरकार देश में तेल के दामों को काबू में रखने व उनमें कमी लाने के इरादे से अपने सामरिक भंडार से 50 लाख बैरल कच्चा तेल जारी करेगी।

तेल को जारी करने की यह प्रक्रिया समानांतर रूप से और संयुक्त राज्य अमेरिका, चीनी लोक गणराज्य, जापान और कोरिया गणराज्य सहित अन्य प्रमुख वैश्विक ऊर्जा उपभोक्ताओं के परामर्श से होगी।

अंतरराष्टीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में गिरावट लाने के लिए अमेरिका, चीन व जापान समेत कई बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश इसी तरह का कदम उठा रहे हैं।

भारत ने तेल उत्पादक देशों द्वारा कृत्रिम रूप से तेल की आपूर्ति को मांग के स्तर से नीचे समायोजित किए जाने की वजह से होने वाली कीमतों में बढ़ोतरी और नकारात्मक परिणाम को लेकर बार-बार चिंता व्यक्त की है।

प्रधानमंत्री मोदी घरेलू स्तर पर पेट्रोलियम/डीजल की ऊंची कीमतों की लगातार समीक्षा कर रहे हैं। मुद्रास्फीति के दबाव को नियंत्रित करने के प्रयासों के तहत, भारत सरकार ने 3 नवंबर 2021 को पेट्रोल और डीजल पर ‘केंद्रीय उत्पाद शुल्क’ में क्रमशः 5 रुपये और 10 रुपये की कमी की थी।

इसके बाद कई राज्य सरकारों द्वारा ईंधन पर लगने वाले मूल्य वर्द्धित कर (वैट) में कमी की गई। सरकार पर भारी वित्तीय बोझ के बावजूद, नागरिकों को राहत प्रदान करने के लिए ये कठिन कदम उठाए गए।

Latest Articles

NewsExpress