शुक्रवार, अक्टूबर 22, 2021

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने राष्ट्रीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान, भुवनेश्वर को ड्रोन के इस्तेमाल की मंजूरी दी

नागरिक उड्डयन मंत्रालय (एमओसीए)और नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए)नेराष्ट्रीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (एनआईएसईआर)भुवनेश्वर को मानव रहित विमान प्रणाली (यूएएस) नियम, 2021 से सशर्त छूट दी है।

इस छूट से संस्थान को ड्रोन काइस्तेमाल करके,भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के सहयोग से केंद्रद्वारासंरक्षित स्मारकों के हवाई सर्वेक्षण और फोटोग्रामेट्री की मंजूरी मिली है।

राष्ट्रीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान के लिए ड्रोन संचालन हेतु मंजूर किए गए स्थलों में भुवनेश्वर स्थित राजा-रानी मंदिर और लिंगराज मंदिर शामिल हैं।

यह छूट मंजूरी की तारीख से एक वर्ष की अवधि के लिए या अगले आदेश तक, इनमें से जो भी पहले हो, के लिए वैध है और यह नागरिक उड्डयन महानिदेशालयद्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) केनियमों और शर्तों के अधीन होगी।

इस महीने के शुरुआत में, हरियाणा के शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय (डीयूएलबी) को भी अमृत (अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन) शहरों के विकास और हिसार, पंचकुलाएवं अंबाला शहरी क्षेत्रोंकीसंपत्ति कर सर्वेक्षण के उद्देश्य सेडेटा अधिग्रहण, मानचित्रण और वेब-आधारित जीआईएस (भौगोलिक सूचना प्रणाली)प्लेटफॉर्मके कार्यान्वयन के लिए ड्रोन के इस्तेमाल की मंजूरी दी गयी थी।

Latest Articles

NewsExpress