रविवार, नवम्बर 14, 2021

हज 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू, 31 जनवरी है लास्ट डेट

वर्ष 2022 में होने वाले हज के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया सोमवार को शुरू हो गई। इसके साथ ही केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मक्का-मदीना की हज यात्रा के लिए अहम सुधारों और सुविधाओं को बढ़ाने का भी ऐलान किया।

मंत्री ने कहा कि हज 2022 का आयोजन महत्वपूर्ण सुधारों और बेहतर सुविधाओं के साथ किया जा रहा है।

हज यात्रा की घोषणा करते हुए, नकवी ने कहा, “पूरी हज प्रक्रिया शत-प्रतिशत ऑनलाइन होगी। लोग ऑनलाइन और आधुनिक सुविधाओं से लैस ‘हज मोबाइल ऐप’ के जरिए भी आवेदन कर सकते हैं। हज 2022 के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी, 2022 है। ऐप को ‘हज ऐप इन योर हैंड’ टैगलाइन के साथ अपग्रेड किया गया है, इसमें कई नई विशेषताएं शामिल हैं जिनमें अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न, आवेदन पत्र भरने की जानकारी और आवेदकों को बहुत ही सरल तरीके से फॉर्म भरने की जानकारी देने वाले वीडियो शामिल हैं।

लोकल फॉर वोकल

नकवी ने कहा कि इस बार भारतीय हज यात्री स्वदेशी उत्पादों के साथ हज पर जाएंगे और “वोकल फॉर लोकल” को बढ़ावा देंगे। पहले हज यात्री सऊदी अरब में विदेशी मुद्रा में चादर, तकिए, तौलिया, छाता और अन्य सामान खरीदते थे। इस बार, इनमें से अधिकांश स्वदेशी सामान भारत में भारतीय मुद्रा में खरीदा जाएगा। जहां ये सामान भारत में सऊदी अरब की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत कम कीमतों पर उपलब्ध होगा, वहीं यह “स्वदेशी” और “वोकल फॉर लोकल” को भी प्रोत्साहित करेगा। ये सभी सामान हज यात्रियों को भारत में उनके संबंधित यात्रा के शुरुआती बिंदुओं पर दिए जाएंगे।

मंत्री ने कहा कि दशकों से हज यात्री सऊदी अरब में इन सभी वस्तुओं को विदेशी मुद्रा में खरीदते थे। दिलचस्प बात यह है कि इनमें से अधिकांश वस्तुएं “मेड इन इंडिया” थीं, जिन्हें विभिन्न कंपनियां भारत से खरीदती थीं और सऊदी अरब में हज यात्रियों को दोगुनी या तिगुनी कीमत पर बेचती थीं। श्री नकवी ने कहा कि एक अनुमान के अनुसार इस व्यवस्था से भारतीय हज यात्रियों को करोड़ों रुपये की बचत होगी। भारत से हर साल दो लाख यात्री हज पर जाते हैं।

पूर्ण कोविड-19 टीकाकरण के आधार पर चयन

नकवी ने कहा कि हज 2022 के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए, हज यात्रियों की चयन प्रक्रिया भारत तथा सऊदी अरब की सरकारों द्वारा तय किए जाने वाले दिशा-निर्देश एवं मानदंड के हिसाब से दोनों खुराकों के साथ पूर्ण टीकाकरण के आधार पर की जाएगी।

नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत की हज समिति, सऊदी अरब में भारतीय दूतावास और जेद्दा में भारत के महावाणिज्य दूत और अन्य एजेंसियों के बीच महामारी की चुनौतियों के सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए विचार-विमर्श के बाद हज 2022 की पूरी प्रक्रिया तैयार की गई है।

Latest Articles

NewsExpress