शुक्रवार, नवम्बर 12, 2021

पाकिस्तान में बेलगाम हुई महंगाई, आम जनता को झूठे दिलासे दे रहे है इमरान खान

पाकिस्तान में महंगाई अपने चरम पर है महंगाई दर 9 से 10% के बीच पहुंच गई है। इसके बावजूद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान देश के लोगो को यह दिलासा दिलाने में लगे हुए हैं कि उनके मुल्क में हालात भारत और दूसरे देशों से काफी अच्छी हैं। गौर करने वाली बात यह भी है कि कुछ दिन पहले ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में आईएमएफ के हवाले से कहा था कि महंगाई के मामले में पाकिस्तान विश्व में चौथे स्थान पर है। पाकिस्तान में पिछले हफ्ते पेट्रोल और डीजल की कीमतों 8 रुपए प्रति लीटर का इजाफा हुआ है।

हकीकत से दूर

पाकिस्तान की अवाम महंगाई की चोट से कराह रही है। देश में एक किलो चीनी की कीमत 160 रुपए पहुंच गई है। इसके बाद भी इमरान खान यह मानने के लिए तैयार नहीं है कि उनके मुल्क में महंगाई है। पाक सरकार में सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि भारत में पेट्रोल 250 रुपए प्रति लीटर है, बल्कि पाकिस्तान में महज 145 रुपए प्रति लीटर। इस मामले में दो बातें ध्यान देने लायक हैं। पहली बात तो ये की भारत में पेट्रोल 250 रुपए प्रति लीटर नहीं है, बल्कि 110 रुपए प्रति लीटर के आसपास है। दूसरी बात ये की पाकिस्तान में एक डॉलर की कीमत 174 पाकिस्तानी रुपए है। जबकि भारत में यह तकरीबन 74 रुपए है।

अपनी तारीफ में लगे है इमरान

पाकिस्तान में इस समय इमरान सरकार को महंगाई के विषय पर चारों तरफ से मार पड़ रही है। देश की आम जनता सड़कों पर उतर कर सरकार का विरोध कर रही है। हाल इतने बुरे आ चुके है कि फौज ने भी इस विषय पर सरकार से नाराजगी जता दी है। इसके बावजूद इमरान खान और उनके मंत्री देश की अवाम से झूठ पर झूठ बोल रहे हैं। उनको यह विश्वास दिलाने में लगे हुए हैं कि पाकिस्तान में हालात बहुत अच्छे हैं और महंगाई पूरे विश्व में बढ़ रही है। इमरान ने कहा- हमारी सरकार ने दूसरे देशो के मुकाबले पाकिस्तान में महँगाई को बेहतर तरीके से संभाला है।

घिर गई इमरान सरकार
पाकिस्तान में विपक्ष का गठबंधन यानी पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) जल्द ही देश मे बढ़ती महंगाई को देखते हुए इमरान सरकार के खिलाफ महंगाई मार्च निकालने जा रहा है। सरकार को इस बात का डर सता रहा है कि कहीं इस मार्च में आम जनता भी शामिल न हो जाएं।

सरकार की सबसे बड़ी मुसीबत यह भी है कि पाकिस्तान के सबसे बड़े बैंक ने यह कह दिया है कि आने वाले 6 महीने में किसी भी हाल में महंगाई कम नहीं होगी। हाल ही में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान सऊदी अरब गए थे और वहां से इमरान 3 अरब डॉलर का कर्ज लेकर अपने मुल्क वापस लौटे थे। दिक्कत यह भी है कि इस कर्ज को सिर्फ रिजर्व मनी के रूप में बैंक में रखा जा सकता है। इन पैसों को खर्च नहीं किया जा सकता। सरकार के हिसाब से पाकिस्तान में महंगाई दर 9.2% है बल्कि देश के कई इकोनॉमिस्ट की माने तो महंगाई दर 10% से ऊपर जा चुका है।

Latest Articles

NewsExpress