सोमवार, अक्टूबर 25, 2021

Pegasus मामला: विपक्ष को मिला बिहार के सीएम का साथ, संसद में चर्चा और जांच की मांग का किया समर्थन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पेगासस जासूसी मामले की जांच की मांग की है। इस मामले को लेकर नीतीश कुमार इससे पहले भी चिंता जाहिर कर चुके हैं।

मीडिया द्वारा जांच की मांग से संबंधित सवाल पूछे जाने पर बिहार के सीएम ने कहा कि जांच बिल्‍कुल होनी चाहिए। इतने समय से टेलीफोन टैपिंग की बात उठ रही है, इस पर जरूर चर्चा हो जानी चाहिए। मेरे हिसाब से इस पर उचित कदम उठाना चाहिए। क्‍या हुआ है क्‍या नहीं, यह पार्लियामेंट में कुछ लोग बोल रहे हैं और समाचार पत्र में आ रहे हैं, उसी को हम देखते हैं, जो भी कुछ है उस पर पूरी तरह से जांच होनी चाहिए।

नीतीश ने कहा कि मेरी समझ से इसपर जांच कर लेनी चाहिए ताकि जो भी सच्‍चाई हो, सामने आ जाए और कभी भी कोई किसी को डिस्‍टर्ब करने के लिए, परेशान करने के लिए इस तरह का काम न करे।

बता दें कि कुछ मीडिया संगठनों द्वारा एक रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसमें कहा गया कि कुछ राजनीतिक नेताओं, सरकारी अधिकारियों, पत्रकारों सहित अनेक भारतीयों की निगरानी करने के लिये इजराइली स्पाइवेयर पेगासस का उपयोग किया गया था।

19 जुलाई से संसद सत्र शुरू हुआ है लेकिन कृषि कानून और पेगासस मामले को लेकर विपक्ष के सांसदों के हंगामे से ज्‍यादातर समय सदन चल नहीं सका है। सोमवार,1 अगस्त को विपक्ष के हंगामे के कारण ही लोकसभा और राज्‍यसभा की कार्यवाही को मंगलवार 11 बजे तक स्‍थगित करना पड़ा है।

Latest Articles

NewsExpress