शनिवार, अक्टूबर 23, 2021

रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि पर पीएम मोदी ने लिखा पत्र, इमोशनल हुए चिराग

लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की आज पहली बरसी है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान को पत्र लिखकर शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने पत्र के जरिए रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी और उन्हें महान सपूत, बिहार का गौरव व सामाजिक न्याय का मसीहा भी कहा।

पीएम ने अपने पत्र में लिखा कि आज का दिन उनके लिए काफी भावुक है और इस दिन को वह न केवल अपने आत्मीय मित्र के रूप में याद कर रहे हैं बल्कि भारतीय राजनीति में उनके जाने से जो शून्य उत्पन्न हुआ है उसे भी अनुभव कर रहे हैं। रामविलास पासवान के साथ अपने लंबे राजनीतिक जीवन को भी पीएम नरेंद्र मोदी ने इस चिट्ठी में याद करते हुए शामिल किया है। साथ ही एनडीए सरकार के 6 वर्षों के कार्यकाल के दौरान भी रामविलास पासवान द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख किया है।

पीएम मोदी ने लिखा कि हमेशा चेहरे पर मुस्कान लिए राम विलास जी सभी के थे, जन जन के थे। मैं राम विलास जी के परिवार के सभी सदस्यों के लिए उनके सभी समर्थकों के लिए बेहतर स्वास्थ्य और सुख-समृद्धि की कामना करता हूं।

पीएम मोदी की ओर से पत्र मिलने के बाद रामविलास पासवान के बेटे और लोजपा नेता चिराग पासवान ने पत्र को ट्विटर पर शेयर करते हुए प्रधानमंत्री का आभार जताया है।

चिराग पासवान ने पत्र को ट्वीट करते हुए कहा कि पिता जी के बरखी के दिन आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का संदेश प्राप्त हुआ है। सर आपने पिता जी के पूरे जीवन के सारांश को अपने शब्दों में पिरो कर उनके द्वारा समाज के लिए किए गए कार्यों का सम्मान किया है व उनके प्रति अपने स्नेह को प्रदर्शित किया है। यह पत्र मेरे और मेरे परिवार को इस दुःख की घड़ी में शक्ति प्रदान करता है। आप का स्नेह व आशीर्वाद हमेशा बना रहे।

चिराग पासवान ने आज पटना में अपने पिता रामविलास पासवान की बरसी पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया है। इस आयोजन में देश के अलग-अलग दलों के विभिन्न राजनेताओं को आमंत्रित किया गया है। चिराग पासवान ने पीएम नरेंद्र मोदी को भी निमंत्रण दिया था। हालांकि पीएम पटना में होने वाले इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो रहे हैं, लेकिन उन्होंने रामविलास पासवान की पहली बरसी पर श्रद्धांजलि देते हुए एक पत्र जरूर लिखा है।

बता दें कि लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान की पिछले साल 12 सितंबर को इलाज के दौरान दिल्ली में निधन हो गया था।

Latest Articles

NewsExpress