गुरूवार, अक्टूबर 28, 2021

प्रयागराजः गंगा और यमुना नदी उफान पर, बाढ़ से निपटने को जुटा प्रशासन

गंगा नदी जहां उफान पर है तो वहीं हथिनी कुंड बैराज से छोड़े गए पानी की वजह से यमुना नदी का जल स्तर भी तेजी से बढ़ने के कारण आसपास के क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति बन गई है। प्रयागराज की प्रशासन ने बाढ़ से निपटने के लिए सभी तैयारियां शुरू कर दी है। राजस्थान के धवलपुर बैराज से लगभग 18 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है, जिससे गंगा और यमुना नदियों का जलस्तर बढ़कर बाढ़ का रूप ले रहा है।

जिले में कंट्रोल रूम खोल दिया गया है जिनके फ़ोन नंबर 0532-2641577, 2641578 जारी कर दिए गए हैं। तहसील सदर, सोरांव, फूलपुर, हंडिया, बारा, करछना और मेजा के कई गांव बाढ़ से प्रभावित होंगे। इसके अलावा तहसील सदर के बघाड़ा, राजापुर, ऊंचवागढ़ी, अशोक नगर , कछार करैली, सदियांपुर, करैलाबाग, मीरापुर आदि मोहल्लों में भी बाढ़ की संभावना जताई जा रही है।

बाढ़ के संभावना को ध्यान में रखते हुए कुल 98 चैकियां और 110 शरणागत स्थल बनाए गए हैं। जिनमें अधिकारियों, कर्मचारियों, चिकित्साधिकारियों, पशु डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ आदि की ड्यूटी लगा दी गई है। संगम क्षेत्र में जल पुलिस, पीएसी और एसडीआरएफ की 20 मोटर बोट समस्त जीवन रक्षक उपकरणों सहित तैनात किए गए हैं। इसके अलावा कुल 1000 प्राइवेट नावें और 5 प्राइवेट मोटर बोट भी उपलब्ध है। साथ ही जल पुलिस, एसडीआरएफ और पीएसी के मिलाकर कुल 20 गोताखोर तथा 15 प्राइवेट गोताखोर भी उपलब्ध हैं।

Latest Articles

NewsExpress