गुरूवार, अक्टूबर 28, 2021

वैज्ञानिकों, छात्रों ने राष्ट्रीय सम्मेलन में क्वांटम डिवाइस में नैनो टेक्नोलॉजी के उपयोग पर चर्चा की

नैनो-मैटेरियल पर काम करने वाले वैज्ञानिकों और देशभर के छात्रों ने दो दिवसीय सम्मेलन में क्वांटम डिवाइस, क्वांटम मैटेरियल, ऊर्जा रूपांतरण और भंडारण में नैनो तकनीक के इस्तेमाल पर जोर देते हुए भौतिकी क्षेत्र में नैनो-मैटेरियल के इस्तेमाल और प्रगति पर चर्चा की। एक बयान में शनिवार को यह जानकारी दी गयी।

भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलुरु के प्रोफेसर, वैज्ञानिक और इस क्षेत्र में दुनियाभर में प्रख्यात डी.डी. शर्मा ने फिजिक्स ऑफ नैनो मैटेरियल कॉन्फ्रेंस (पीएनएम-2021) में कहा कि नैनो-सामग्री की इलेक्ट्रॉनिक संरचना एक बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र है जिसमें क्वांटम डिवाइस, क्वांटम मैटेरियल, ऊर्जा रूपांतरण और भंडारण में बेहद संभावनाए हैं और बहुत से युवा इसमें गहरी रुचि दिखा रहे हैं।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) के तहत स्वायत्त संस्थान नैनो विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान (आईएनएसटी), मोहाली द्वारा 20-21 अगस्त को प्रत्यक्ष और डिजिटल यानी मिश्रित तरीके से चंडीगढ़ में सम्मेलन का आयोजन किया गया।

देशभर के विभिन्न शैक्षणिक और वैज्ञानिक संस्थानों के 20 विशेषज्ञ वक्ताओं सहित 100 प्रतिभागियों ने भाग लिया। इसके तहत नैनोसाइंस और नैनो टेक्नोलॉजी से संबंधित भौतिकी के विभिन्न क्षेत्रों पर चर्चा की गई।

आईएनएसटी के निदेशक प्रोफेसर अमिताभ पात्रा ने कहा कि यह सम्मेलन प्रख्यात वैज्ञानिकों, शिक्षाविदों के साथ-साथ छात्रों और युवा शोधकर्ताओं के लिए मैटेरियल फिजिक्स में अनुसंधान पर नोट्स का आदान-प्रदान करने के लिए एक उत्कृष्ट मंच है। इसके अलावा युवा शोधकर्ताओं को सहयोगी कार्य के लिए एक मंच भी प्रदान कर सकता है।

Latest Articles

NewsExpress