बुधवार, अक्टूबर 27, 2021

Happy Birthday Ravi Kishan : काफी संघर्षों के बाद मिली सफलता, आसान नहीं था फिल्मों से राजनीति तक का सफर

रवि किशन किसी पहचान की मोहताज नहीं है। रवि किशन बॉलीवुड और भोजपूरी इंडस्ट्री के जाने माने अभिनेता है। वह एक बेहतरीन अभिनेता हैं और अपने हर किरदार से लोगो का मनोरंजन करते हैं। अपने शानदार अभिनय के दम पर उन्होंने भोजपूरी ही नहीं बॉलीवुड में भी अपनी जीत का परचम लहराया है।

भोजपुरी सुपरस्टार और भारतीय राजनीतिज्ञ रवि किशन का आज 51वां जन्मदिन है। रवि किशन का जन्म 17 जुलाई 1969 को हुआ था और उनका घर उत्तर प्रदेश के जौनपुर में है। रवि किशन का असली नाम रविंद्रनाथ शुक्ला है। रवि किशन भोजपुरी के बहुत ही बेहतरीन कलाकार हैं। हालांकि लोग अभी भी भोजपुरी सिनेमा को ज्यादा तवज्जो नहीं देते हैं। जिसके लिए रवि किशन जी-तोड़ कोशिश में जुटे हुए हैं ,वो चाहते है कि बॉलीवुड-टॉलीवुड की तरह भोजपुरी सिनेमा को भी एक अच्छी पहचान मिले।

रवि किशन ने अपने फ़िल्मी करियर के शुरूआती दिनों में बहुत संघर्ष किया है और उनका यह संघर्ष बेहद कम उम्र से ही शुरू हो गया था। जब वह मुंबई आए थे तो उनकी उम्र मात्र 17 साल थी। उनके पास पैसों की अभी कोई कमी नहीं है लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब वो सिर्फ 500 रुपये लेकर मुंबई शहर में उन्होंने प्रवेश किया था, अपना जीवन व्यतीत करने के लिए वह शुरुआती दिनों में एक रामायण के प्ले में काम किया करते थे । उन्होंने अपने जीवन में बहुत उतार चढ़ाव देखे है

उन्होने अपने फिल्मी सफर की शुरूआत साल 1992 में आई फिल्म पीताम्बर से किया था। लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा पोप्युरलिटी वर्ष 2003 में रिलीज़ हुई सलमान खान की हिट फिल्म तेरे नाम से मिली थी। इस फिल्म में उन्होने एक पुजारी का किरदार निभाया था जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया। उन्होंने वर्ष 2006 में बिग बॉस की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था ,और फाइनल तक पहुंचे थे। इसके बाद उन्होंने ‘झलक दिखला जा’ के पांचवें सीजन में भी काम किया।

इसके अलावा उन्होने कई अनगिनत भोजपूरी फिल्मों में काम किया है। उनका एक डायलॉग ज़िदगी झंड बा …फिर भी घमंड बा बेहद लोकप्रीय हुआ था और आज भी हर किसी की ज़ुबान पर है।अब तक उन्होंने 350 से अधिक भोजपुरी फिल्मों में काम किया है।

रविकिशन और अजित सिंह स्टारर फिल्म जला देब दुनिया तुहरा प्यार में का निर्माण एक अमेरिकन कंपनी ने किया था। इस फिल्म की स्क्रीनिंग कांस फिल्म फेस्टिवल में हुई थी। जून 2008 में उन्हें और अजित कुमार सिंह को ईटीवी भोजपुरी सिनेमा सम्मान 2008 के कार्यक्रम में सबसे अधिक प्रसिद्ध अभिनेता का पुरस्कार मिला।

चुनावी करियर –

रवि किशन उत्तर प्रदेश के जौनपुर निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) में शामिल हुए, और वर्ष 2014 में चुनाव लड़ा, जहां उन्होंने कुल वोटों का केवल 4.25 प्रतिशत ही हासिल कर पाए और 6 वें स्थान पर रहे। फरवरी 2017 में रवि किशन ने कांग्रेस पार्टी को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। लोकसभा चुनाव 2019 में वो यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के क्षेत्र गोरखपुर से भाजपा के टिकट पर खड़े हुए और शानदार जीत दर्ज की थी।

Latest Articles

NewsExpress