बुधवार, अक्टूबर 27, 2021

काबुल में पाक मुर्दाबाद के नारों से तिलमिलाया तालिबान, अपने ही लोगों पर की फायरिंग

अफगानिस्तान में अब लोग पाकिस्तान का विरोध कर रहे है और पाकिस्तान मुर्दाबाद, आजादी और सपोर्ट पंजशीर के नारे लगा रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अफगानिस्तान में पाकिस्तान आतंकवाद के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। ये लोग पाकिस्तान दूतावास भी पहुंचे जहां पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए।

न्यूज एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट मुताबिक, विरोध-प्रदर्शन कर रहे इन लोगों को हटाने के लिए तालिबान ने गोलियां चलाई हैं।

लोगों का कहना है कि अफगानिस्तान को एक स्वतंत्र सरकार चाहिए न कि कोई पाकिस्तानी कठपुतली सरकार।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद 4 सितंबर को काबुल पहुंचे थे। हमीद ने तालिबान के वरिष्ठ नेताओं से बातचीत की और सरकार में हक्कानी नेटवर्क के उचित प्रतिनिधित्व की बात उठाई।

तालिबान को सपोर्ट करने के लिए पाकिस्तान पर आरोप लगते रहे।

कई मीडिया रिपोर्ट्स ने इस बात का सबूत दिया है कि कैसे पाकिस्तान अफगानिस्तान सरकार को अस्थिर करके तालिबान का सहयोग कर रही है। अफगानिस्तान और अमेरिका के युद्ध में पाकिस्तान एक ऐसा अकेला देश है जो तालिबान के साथ है। तालिबान ने पाकिस्तान को अपना दूसरा घर बताया है।

पाकिस्तान के केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि पाकिस्तान, तालिबान का ‘संरक्षक’ रहा है और लंबे वक्त तक उनकी देखभाल की है।

Latest Articles

NewsExpress