बुधवार, नवम्बर 17, 2021

तालिबान को पिता पर प्रतिरोध बल में शामिल होने का शक, बदले में बेटे को उतरा मौत के घाट

अफगानिस्तान में तालिबान हर रोज अपने जुल्म और क्रूरता के नए-नए उदाहरण पेश कर रहा है। दुश्मनों को माफ करने का दावा करने वाले तालिबान ने अपने बदले की आग में बच्चों को भी नहीं बख्शा है। अफगानिस्तान के तखर प्रांत में तालिबान ने एक बच्चे को इस शक में मार डाला कि उसके पिता विद्रोही सेना में शामिल हो गए थे।

सूत्रों ने बताया कि तालिबान को शक था कि बच्चे का बाप पंजशीर के उन लड़ाकों में शामिल था, जो तालिबान के खिलाफ लड़ रहे थे। इसलिए उसकी हत्या कर दी।

15 अगस्त को अफगानिस्तान पर कब्जा करने वाले तालिबान ने वादा किया था कि वह किसी से कोई बदला नहीं लेगा। लेकिन पंजशीर से भी नागरिकों को गोली मारने की खबरें आई हैं। यह तालिबान के कब्जे में आने वाला आखिरी प्रांत था। इसने लोगों को इसलिए गोली मार दी, क्योंकि वे भागने का प्रयास कर रहे थे।

मीडिया ने एक ट्वीट में कहा, “ताखार प्रांत में तालिबान लड़ाकों ने एक बच्चे की हत्या कर दी। क्योंकि उन्हें शक था कि बच्चे का पिता प्रतिरोध बलो का हिस्सा थे। बच्चे की नृशंस हत्या उन अफगानियों पर तालिबान की कार्रवाई की ताजा घटना है, जिन्होंने संगठन के खिलाफ अपनी आवाज उठाई थी।

अमेरिकी सूत्रों के अनुसार प्रतिरोध बल के सदस्यों और पूर्व सरकार को देश भर में बदला लेने के लिए निशाना बनाया जा रहा है।पंजशीर के एक युवक ने हिंदुस्तान न्यूज़ को बताया, “उन्होंने मेरे परिवार पर पांच बार हमला किया।एक अन्य निवासी ने बताया कि तालिबान लोग रोककर उन लोगों की पहचान कर रहे हैं जिन्होंने उनका प्रतिरोध किया, या जो अफगानिस्तान की पिछली सरकार के साथ किसी भी तरह से जुड़े हुए थे। वे हमारे मोबाइल लेते हैं और उनकी जांच करते हैं। अगर उन्हें कोई संदिग्ध तस्वीर मिलती है, तो वे उस व्यक्ति को मार देते हैं।

तालिबान ने सोमवार को दक्षिणी हेलमंद प्रांत में नाइयों को दाढ़ी नहीं काटने का आदेश दिया। उनका ये दावा है कि ये आदेश शरिया के अनुरूप है।

Latest Articles

NewsExpress