शनिवार, अक्टूबर 23, 2021

दिल्ली पुलिस की वो 10 शर्तें, जिन्हें मानने के बाद मिली है किसान संसद की परमिशन

आज गुरूवार को नई दिल्ली जंतर मंतर पर किसानों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। इस विरोध में किसानों का आंदोलन नए पड़ाव पर शुरू हो रहा है। आज करीब 200 किसान प्रदर्शन करेंगे। दिल्ली पुलिस से किसानों को सुबह 11 से शाम 5 बजे तक प्रदर्शन करने की इज़ाजत मिली है।

इस प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली के टिकरी, सिंघु, गाजीपुर बॉर्डर और जंतर-मंतर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। प्रदर्शन शुरू होने से पहले ही अलग-अलग इलाकों से किसानों का दिल्ली पहुंचना शुरू हो गया है। किसानों का बड़ा जत्था बसों से जंतर मंतर पहुंच रहा है। किसान नेता राकेश टिकैत गुरुवार सुबह गाजीपुर बॉर्डर से सिंघु बॉर्डर रवाना हुए।

दिल्ली पुलिस की वो 10 शर्तें:

1- किसान हर रोज 11 बजे से लेकर 5 बजे शाम तक प्रदर्शन करेंगे.

2-सिंघु बॉर्डर पर इकट्ठा होकर 200 किसान एक साथ लगभग 5 बसों में भरकर जंतर मंतर की तरफ 10 बजे रवाना होंगे, सिंघु बॉर्डर के अलावा किसी भी बॉर्डर से किसानों का कोई भी मोर्चा जंतर मंतर की ओर नहीं जाएगा.

3-किसानों के साथ साथ पुलिस भी सिंघु बॉर्डर से जंतर-मंतर तक आएगी ताकि किसी तरह की गड़बड़ न हो. 

4- लगभग 40 संगठनों के 5-5 किसान संसद में हर रोज शामिल होंगे और उन्हीं 5 किसानों में से एक को मॉनिटर बनाया जाएगा और किसी भी गड़बड़ी की परिस्थिति में उसे जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी.

5-जो किसान प्रदर्शन में शामिल होंगे, उनकी पहचान पहले से ही सुनिश्चित की जाएगी. 

6- जंतर मंतर पर प्रदर्शन की जगह सुनिश्चित की जाएगी और यहां सुबह 11 बजे से लेकर शाम के 5 बजे तक किसान संसद चलेगी.

7-जंतर मंतर पर सुरक्षा के सभी इंतजाम किए जाएंगे और सीसीटीवी कैमरे की भी नजर होगी ताकि कोई भी बाहरी व्यक्ति वहां प्रदर्शन में शामिल ना हो पाए. 

8- 5 बजे शाम प्रदर्शन समाप्त होने के बाद फिर से उन्हीं बसों में भरकर किसान दोबारा सिंघु बॉर्डर पहुंचा दिए जाएंगे. 

9-किसान प्रदर्शन के दौरान कोविड गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करेंगे. 

10-किसान संसद में मंच संचालित होगा और ये संचालन प्रदर्शन में शामिल हो रहे किसान ही करेंगे. Live TV

राकेश टिकैत ने आज तक से कहा कि “हमारा संघर्ष पिछले आठ महीनों से चल रहा है। हम शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बातों को सरकार के सामने रखना चाहते हैं। किसान नेता ने कहा कि जबतक संसद का सत्र चलेगा, हम लोग जंतर-मंतर पर ही अपनी किसान संसद चलाएंगे।” किसान नेता प्रेम सिंह भांगू का आज तक से कहना है कि “हमारा अगला लक्ष्य उत्तर प्रदेश है। पांच सितंबर से इसकी शुरुआत होगी, हम बीजेपी को अलग-थलग करना चाहते हैं. तीनों कृषि कानूनों को वापस करने के अलावा कोई रास्ता नहीं है।”

किसान पांच बसों में जंतर मंतर पहुंचेंगे। दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शन को देखते हुए कड़ी सुरक्षा की है, सीसीटीवी से भी नज़र रखी जा रही है।

Latest Articles

NewsExpress