सोमवार, अक्टूबर 25, 2021

केंद्रीय मंत्री बोले किसानों के राजनीति में प्रवेश का करेंगे स्वागत, राकेश टिकैत ने कर दी बोलती बंद

देश में कृषि कानूनों को लेकर सियासत जारी है। किसान आंदोलन को 9 महीने से अधिक का समय बीत चुका है। उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फनगर में रविवार को किसानों ने महापंचायत आयोजित कर शक्ति प्रदर्शन किया।

बीते दिन मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय में केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बाल्यान ने किसान आंदोलन को राजनीतिक प्रेरित होने का आरोप लगाते हुए इसे कृषि कानून के खिलाफ दुष्प्रचार बताया था।

बता दें कि केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बाल्यान ने किसानों पर निशाना साधते हुए कहा था कि महापंचायत का माहौल शांतिपूर्ण रहे, ऐसा होना चाहिए था। हालांकि, बाहर से आए कई लोगों ने यहां माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। मुझे उम्मीद है कि आयोजनकर्ता इस बात का ध्‍यान रखेंगे।

संजीव बाल्यान ने यह भी कहा था कि अगर किसान राजनीति में आना चाहते हैं तो वे उनका स्वागत करेंगे। बाल्यान के इस बयान पर अब भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने पलटवार किया है।

ANI न्यूज़ एजेंसी से बातचीत के दौरान राकेश टिकैत ने कहा कि हमें राजनीति में नहीं आना है, वो बस हमारे मुद्दों का हल निकाले और हमारी बात सरकार से करवा दें।

किसान आंदोलन को लेकर राकेश टिकैत ने यह भी कहा कि जब तक तीनों कृषि कानूनों की वापसी नहीं होगी तब तक हम ना ही धरना स्थल छोड़ेंगे और ना ही आंदोलन छोड़ेंगे।

Latest Articles

NewsExpress