शनिवार, अक्टूबर 9, 2021

पश्चिम रेलवे ने राजधानी एक्सप्रेस का नए अपग्रेड किए गए तेजस रेक के साथ परिचालन शुरू किया

इंडियन रेलवे ने मुंबई राजधानी एक्सप्रेस का नए आधुनिक तेजस टाइप स्मार्ट स्लीपर कोच रेक के साथ परिचालन शुरू किया है। इसमें से एलएचबी कोच को हटाकर तेजस क्लास के हाई क्‍वालिटी स्मार्ट कोच लगाया गया है, जो विश्वस्तर अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। रेलवे का दावा है कि स्मार्ट रैक के जुड़ने से लोगों की यात्रा न सिर्फ आरामदायक, बल्कि सुरक्षित भी होगी। ये नए कोच धीरे-धीरे भारतीय रेल नेटवर्क पर लंबी दूरी की प्रीमियम ट्रेनों में भी लगाए जाएंगे।

स्मार्ट कोच का उद्देश्य इंटेलिजेंट सेंसर-आधारित सिस्टम की मदद से यात्रियों को विश्व स्तरीय सुविधाएं प्रदान करना है। यह जीएसएम नेटवर्क कनेक्टिविटी के साथ प्रदान की गई यात्री सूचना और कोच कंप्यूटिंग यूनिट (पीआईसीसीयू) से लैस है, जो रिमोट सर्वर को रिपोर्ट करता है। पीआईसीसीयू, डब्ल्यूएसपी, CCTV रिकॉर्डिंग, पैनिक स्विच और आग का पता लगाने और अलार्म सिस्टम के साथ एकीकृत अन्य वस्तुओं, वायु गुणवत्ता और चोक फिल्टर सेंसर और ऊर्जा मीटर का डेटा रिकॉर्ड करेगा।

पीआईबी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पश्चिम रेलवे ने नए अपग्रेड किए गए तेजस स्लीपर कोच रैक पेश किए हैं, जिससे ज्यादा आराम के साथ ट्रेन यात्रा अनुभव के एक नए दौर का पता चलता है। ज्यादा अच्छी खूबियों के साथ चमकीले सुनहरे रंग के कोच पश्चिम रेलवे द्वारा परिचालित प्रतिष्ठित मुंबई राजधानी एक्सप्रेस में पेश किए जा रहे हैं और इस तरह अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ यात्रा अनुभव देने का दावा किया जा सकेगा।

इस नई रैक का सोमवार को पहली बार परिचालन हुआ। रेल मंत्रालय ने कहा है कि ट्रेन नंबर 02951/52 मुंबई-नई दिल्ली राजधानी स्पेशल एक्सप्रेस के रेक को तेजस जैसे स्लीपर डिब्बों से बदला जा रहा है। ऐसे दो कोच रेक को राजधानी एक्सप्रेस के रूप में चलाने के लिए पहले ही तैयार किया जा चुका है। इन दो रेक में से एक में विशेष तेजस स्मार्ट स्लीपर कोच शामिल हैं, जो इंडियन रेलवे में पेश किया जाने वाला अपनी तरह का पहला कोच है।

स्मार्ट कोच की विशेषताएं

– पश्चिम रेलवे की सबसे ज्यादा प्रतिष्ठित और प्रीमियम ट्रेनों में से एक ट्रेन संख्या 02951/52 मुंबई- नई दिल्ली राजधानी स्पेशल एक्सप्रेस की मौजूदा रैक को बिल्कुल नए तेजस टाइप स्लीपर कोचों से बदला जा रहा है।

– रेल मंत्रालय ने कहा कि नई ट्रेन में यात्रियों की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए विशेष स्मार्ट फीचर होंगे।

– तेजस टाइप स्लीपर कोच का निर्माण मॉडर्न कोच फैक्ट्री (एमसीएफ) में किया गया है, जो धीरे-धीरे भारतीय रेल नेटवर्क की प्रीमियम लंबी दूरी की ट्रेनों की जगह ले लेंगे।

– इसमें फायर अलार्म, डिटेक्शन एंड सप्रेशन सिस्टम: सभी कोचों में ऑटोमैटिक फायर अलार्म और डिटेक्शन सिस्टम लगाए गए हैं।

– इसके अलावा इमरजेंसी मेडिकल या सुरक्षा जैसी आपात स्थिति में टॉक बैक पर बात की जा सकती है।

-एंटी-ग्रैफिटी कोटिंग, जेल कोटेड शेल्फ, नए डिजाइन का डस्टबिन, डोर लैच एक्टिवेटेड लाइट, एंगेजमेंट डिस्प्ले के साथ लगाए गए हैं।

– शौचालयों में पैनिक बटन: किसी भी आपात स्थिति के लिए इस बटन को प्रत्येक शौचालय में लगाया गया है।

– सभी कोच में दो टॉयलेट एनुसिएशन सेंसर इंटीग्रेशन लगे हैं, जो उपयोग के समय शौचालयों में क्या करें और क्या न करें की घोषणा को प्रसारित करेंगे।

– बेहतर फ्लशिंग के कारण शौचालय में बेहतर स्वच्छता प्रदान करता है और प्रति फ्लश पानी भी बचाता है।

– पूरा अंडर-फ्रेम ऑस्टेनिटिक स्टेनलेस स्टील (एसएस 201 एलएन) का है जो कम जंग के कारण कोच के जीवन को बढ़ाता है।

– संरक्षा में सुधार के लिए बेयरिंग, व्हील के लिए ऑन बोर्ड कंडीशन मॉनिटरिंग सिस्टम भी लगाया गया है।

Latest Articles

NewsExpress